पत्थरों से इतनी मोहब्बत क्यों (Why so much love with stones)

पत्थरों से इतनी मोहब्बत क्यों (Why so much love with stones)

पत्थरों से इतनी मोहब्बत क्यों (love with stones)

जिस तरह लोग मुर्दे इंसान को
कंधा देना पुण्य समझते हैं​

काश” इस तरह’ ज़िन्दा” इंसान
को सहारा देंना पुण्य समझने
लगे तो ज़िन्दगी आसान हो जायेगी​.

Leave a Reply