दौलत से सिर्फ सुविधायें मिलती हैं(Just facilities from wealth meets)

दौलत से सिर्फ सुविधायें मिलती हैं(Just facilities from wealth meets)

दौलत से सिर्फ सुविधायें मिलती हैं(Just facilities from wealth meets)
“सुख” नहीं!!
“सुख” मिलता है “आपस” के प्यार से व अपनों के “साथ” से
अगर सिर्फ “सुविधाओं” से सुःख मिलता तो “धनवान” लोगों को कभी “दुःख” न होता.

Leave a Reply