दुखद शायरी (Sad Shayari)

दुखद शायरी (Sad Shayari)

Sad Shayari

सपना हैं आँखों में मगर नींद नहीं है;
दिल तो है जिस्म में मगर धड़कन नहीं है;
कैसे बयाँ करें हम अपना हाल-ए-दिल;
जी तो रहें हैं मगर ये ज़िंदगी नहीं है।

images (3)

तूने दिल तोडा

तूने दिल तोडा कई बार नजरें फेर कर,
फिर भी दिल को तुझ पर एतबार था,
चाहत में तेरी दिल कुर्बान हर बार था,
तेरी झलक को दिल कब से कर्जदार था.