images (5)

मैं शायर हूं मोहब्बत का

मैं शायर हूं मोहब्बत का, इश्क़ से नज्म सजाता हूं…

कभी पढ़ता हूं महोब्बत को, कभी मोहब्बत लिख जाता हूं..!!

Leave a Reply