उम्मीदें तैरती रहती हैं,(Expectations floats)

उम्मीदें तैरती रहती हैं,(Expectations floats)

उम्मीदें तैरती रहती हैं,(Expectations floats)

कश्तीयां डूब जाती है..!!
कुछ घर सलामत रहते हैं,
आँधियाँ जब भी आती है..!!
बचा ले जो हर तूफां से,
उसे “आस” कहते हैं…!!
बड़ा मज़बूत है ये धागा
जिसे “विश्वास” कहते है…!!

Leave a Reply