डाली से टूटा फूल फिर से (Broken Flowers from stalk again)

डाली से टूटा फूल फिर से (Broken Flowers from stalk again)

डाली से टूटा फूल फिर से (Broken Flowers from stalk again)
दुःख में स्वयं की एक अंगुली(Sorrow of self in a finger)

/> लग नहीं सकता है?
?मगर?
डाली मजबूत हो तो उस पर ?
नया फूल खिल सकता है?
उसी तरह ज़िन्दगी में ?
खोये पल को ला नहीं सकते?
? मगर ?
हौसलें व विश्वास से
आने वाले हर पल को?
खुबसूरत बना सकते हैं.

Leave a Reply