ए “सुबह ”(good morning) तुम जब भी

ए “सुबह ”(good morning) तुम जब भी

ए “सुबह”(good morning) तुम जब भी आना(Come),

सब के लिए बस “खुशियाँ” लाना.
हर चेहरे पर “हंसी” सजाना,
हर आँगन मैं “फूल” खिलाना.
जो “रोये” हैं इन्हें हँसाना.
जो “रूठे” हैं इन्हें मनाना,
जो “बिछड़े” हैं तुम इन्हें मिलाना.
प्यारी “सुबह” तुम जब भी आना,
सब के लिए बस “खुशिया”ही लाना.

Leave a Reply