मोतियों  की आदत  है  (habit of beads)

मोतियों की आदत है (habit of beads)

मोतियों की आदत है (habit

of beads)
बिखर जाने की
ये तो बस धागे की ज़िद है कि,
सबको पिरोये रखना है
माला की तारीफ तो सभी करते हैं क्योंकि मोती सबको दिखाई देता है।
काबिले तारीफ़ तो धागा हैं जनाब
जिसने सबको जोड़ के रखा है …।

Leave a Reply