मेरी यादें मेरा चेहरा (My memories my face)

मेरी यादें मेरा चेहरा (My memories my face)

मेरी बातें रुलायेंगी,
हिज़्र के दौर में
गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,
दिनों को तो चलो तुम
काट भी लोगे फसानों मे,
जहाँ तन्हा मिलोगे तुम
तुम्हे रातें रुलायेंगी|

Leave a Reply