एक कागज का टुकड़ा (A piece of paper)

एक कागज का टुकड़ा (A piece of paper)

“एक कागज का टुकड़ा (A piece of paper)

गवर्नर के हस्ताक्षर से
नोट बन जाता है,
जिसे तोड़ने, मरोडने,
गंदा होने एवँ जज॔र होने से भी*
उसकी कीमत कम नहीं होती…
आप भी ईश्वर के हस्ताक्षर है,*
जब तक आप ना चाहे
आपकी कीमत कम नही हो सकती,
आप अनमोल है ,
अपनी कीमत पहचानिये.

Leave a Reply