[a-z-listing display="posts" post-type="post" taxonomy="category" terms="Fact of life"]
दुनिया  में  दो  पौधे  ऐसे  हैं(There are two plants in the world)

दुनिया में दो पौधे ऐसे हैं(There are two plants in the world)

दुनिया में दो पौधे ऐसे हैं(There are two plants in the world)
जो कभी मुरझाते नहीं
और
अगर जो मुरझा गए तो

View More दुनिया में दो पौधे ऐसे हैं(There are two plants in the world)
दौलत से सिर्फ सुविधायें मिलती हैं(Just facilities from wealth meets)

दौलत से सिर्फ सुविधायें मिलती हैं(Just facilities from wealth meets)

दौलत से सिर्फ सुविधायें मिलती हैं(Just facilities from wealth meets)
“सुख” नहीं!!
“सुख” मिलता है “आपस” के प्यार से व अपनों

View More दौलत से सिर्फ सुविधायें मिलती हैं(Just facilities from wealth meets)
दुःख में स्वयं की एक अंगुली(Sorrow of self in a finger)

दुःख में स्वयं की एक अंगुली(Sorrow of self in a finger)

दुःख में स्वयं की एक अंगुली(Sorrow of self in a finger) आंसू पोंछती है ; और सुख में दसो अंगुलियाँ ताली बजाती है ; जब स्वयं का शरीर ही ऐसा करता है तो दुनिया से गिला-शिकवा क्या करना…!!

View More दुःख में स्वयं की एक अंगुली(Sorrow of self in a finger)
मंजिल यूँ ही नहीं मिलती (The destination does not get you only)

मंजिल यूँ ही नहीं मिलती (The destination does not get you only)

मंजिल यूँ ही नहीं मिलती (The destination does not get you only) राही को जुनून सा दिल में जगाना पड़ता है, पूछा चिड़िया से कि घोसला कैसे बनता है वो बोली कि तिनका तिनका उठाना पड़ता है।

View More मंजिल यूँ ही नहीं मिलती (The destination does not get you only)
क्रोध और अहंकार जीवन मे (Anger and ego in life)

क्रोध और अहंकार जीवन मे (Anger and ego in life)

“क्रोध और अहंकार जीवन मे (Anger and ego in life) क्रेडिट कार्ड की तरह होते है, अभी जितना उपयोग करेंगे बाद मे, भुगतान ब्याज के साथ करना पड़ेगा””

View More क्रोध और अहंकार जीवन मे (Anger and ego in life)